डॉ भीमराव अम्बेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Join Join Now

Dr Bhimrao Ambedkar Rajasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana: नमस्कार दोस्तों , स्वागत हैं आज आपका अपना हिंदी ब्लॉग Rajasthansuchna.com में | आज के इस आर्टिकल के माध्यम से बात करेंगे डॉ भीमराव अम्बेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के बारे में साथ ही दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना राजस्थान क्या है कैसे इस योजना का लाभ दलित परिवारों को मिल पायेगा।

वही आर्टिकल के अंत मे हम आपको क्विक लिंक्स भी देंगे जिस से आप सही और सम्पूर्ण जानकारी के बारे में जान सको ओर Rajasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana Registration कर सको।

दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना राजस्थान 2024:- राजस्थान राज्य की सरकार द्वारा प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के नागरिको को सहायता प्रदान करने के उदेश्य से अनेक प्रकार की जनलोक -कल्याणकारी योजनाओ का संचालन किया जाता है ताकि राज्य के नागरिक जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नही है वे सब इन योजनाओ का लाभ प्राप्त कर के आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सके।

ऐसी ही एक नई योजना राजस्थान की सरकार दुवारा कमजोर परिवारों के नागरिको सहायता प्रदान करने के उदेश्य से शुरू करने जा रही है जिसका नाम है डॉ भीमराव अम्बेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना 2024( Rajasthan Dalit Aadivasi Udyam Protsahan Yojana 2024) इस योजना के माध्यम से सरकार प्रदेश के दलित एवं आदिवासी परिवारों के नागरिको को अपना स्वरोजगार स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करेगी इस योजना से तहत उद्योग शुरू करने पर राज्य सरकार दुवारा 25 लाख रूपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी जिस से आदिवासी लोग अपना स्वरोजगार स्थापित कर सके।

डॉ भीमराव अम्बेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना 2024 क्या है?

राजस्थान सरकार द्वारा 23 फरवरी 2022 को बजट पेश किया गया। इस बजट में राजस्थान के  द्वारा आर्थिक वर्ग से कमजोर तथा दलित समुदाय के लिए अनेक लाभकारी योजनाओं की घोषणा की है उन्ही योजनाओं में से राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को लाने के बारे में कहा था और बोला की वर्तमान में राजस्थान राज्य के दलित,आदिवासी इसके अतिरिक्त अल्प आय वर्ग के लोगों को औद्योगिक क्षेत्र में भागीदारी नगण्य है।

इस भागीदारी को बढ़ाने हेतु दलित समुदाय के लोगों को अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति अन्य पिछड़ा वर्ग अत्यंत पिछड़ा वर्ग अल्पसंख्यक एवं आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को खुद को स्थापित करने एवं में हो रहे आर्थिक परेशानियों को दूर करने में सरकार पूरी मदद करेगी। Dr Bhimrao Ambedkar Rajasthan Dalit Tribal Entrepreneurship Promotion Scheme का शुभारंभ किया।

Dr Bhimrao Ambedkar Rajasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana overviews

योजना का नाम राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना
राज्य राजस्थान
लाभार्थी राजस्थान राज्य के नागरिक
लाभ उद्योग स्थापित करने के लिए
लोन प्रदान किया जाएगा
उद्देश्य उद्योग स्थापित करने हेतु
आर्थिक सहायता प्रदान करना
बजट 100 करोड़
आवेदन तरीका ऑनलाइन/ऑफलाइन

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य राजस्थान के दलित और आदिवासी वर्ग से संबंध रखने वाले युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ना है। ताकि राज्य के सर्वांगीण औद्योगिक विकास में वंचित वर्ग के युवाओं की भागीदारी भी सुनिश्चित की जा सके। राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के द्वारा पात्र युवाओं को रोजगार स्थापित करने में कई प्रकार के लाभ दिए जाएंगे। ताकि उन्हें खुद का उद्यम स्थापित करने में किसी भी प्रकार की कोई परेशानी ना आए। Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana Rajasthan के द्वारा दलित एवं आदिवासी वर्ग के युवाओं का विकास होने के साथ-साथ राज्य के औद्योगिक क्षेत्र को भी बढ़ावा मिलेगा और राज्य में नए-नए उद्योग स्थापित होंगे जिससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और बेरोजगारी दर में गिरावट आएगी।

Dr Bhimrao Ambedkar Rajasthan Dalit Tribal Entrepreneurship Promotion Scheme की विशेषताएं

  • दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गयी है
  • राजस्थान राज्य के बेरोजगार नागरिक जो अपना खुद का लघु उद्योग शुरू करना चाहते है उन्हें रोजगार शुरू करने के लिए कम ब्याज दर से आर्थिक सहायता करने के उद्देश्य से शुरू की गयी एक अत्यंत महत्वपूर्ण योजना है
  • योजना के अंतर्गत 100 करोड़ रुपयों का बजट निर्धारित किया गया है
  • ब्याज राशि को वापस करने का समय 7 वर्ष का किया गया है
  • इस योजना को ऑनलाइन करने की वजह से इस योजना में पारदर्शकता बनी रहेगी
  • राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को ऑनलाइन किया जाने वाला है इस वजह से आवेदक घर बैठे अपने मोबाईल से बड़े ही आसानी से इस योजना के लिए आवेदन कर सकेगा और आवेदक को आवेदन के लिए किसी सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी और उनके समय और पैसों की भी बचत होगी
  • आवेदक आवेदन करने से लेकर लाभ पाने तक के सारी स्थिति की जानकारी समय समय पर अपने मोबाइल के माध्यम से देख सकता है
  • दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना राजस्थान योजना के अंतर्गत मिलनेवाली सहायता राशि DBT के माध्यम से लाभार्थी के बैंक खाते में जमा की जाएगी
  • राजस्थान राज्य के बेरोजगार नागरिक अपना खुद का लघु उद्योग शुरू करने के लिए प्रोत्साहित होंगे |
  • राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की सहायता से राज्य के नागरिकों को जीवन स्तर में सुधार लाने में सहायता होगी |
  • इस योजना की सहायता से नागरकों का सामाजिक एवं आर्थिक विकास होने में सहायता होगी

Rajasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana benifits

भीमराव अम्बेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के बहुत से लाभ आदिवासी ओर दलित लोगो को दिया जायेगा । आइए जानते है कुछ लाभों के बारे में-

  • इस योजना का लाभ राजस्थान के दलित एवं आदिवासी वर्ग के युवाओं को मिलेगा।
  • राजस्थान में इस योजना का लाभ वंचित वर्गों के युवाओं के साथ साथ औद्योगिक क्षेत्र को भी मिलेगा। क्योंकि इस योजना के माध्यम से औद्योगिक क्षेत्र में नए- नए उद्यम स्थापित होंगे।
  • अब दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना राजस्थान  के माध्यम से राज्य के वंचित वर्ग के युवा भी स्वरोजगार स्थापित करने का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।
  • इसके अलावा इस योजना का मुख्य लाभ सरकार को रोजगार के अवसर उत्पन्न करने और बेरोजगारी दर में गिरावट लाने में मिलेगा।
  • प्रदेश के आदिवासी और दलित परिवार के युवा इस योजना का लाभ उठाकर भविष्य के लिए आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सकेंगे
  • Rajasthan Dalit Aadivasi Udyam Protsahan Yojana के तहत वंचित वर्गों को अपना उद्यम स्थापित करने के लिये सक्षम बनाने की दृष्टि से 100 करोड़ रुपये की राशि से Incubation cum Training Centre स्थापित किया जायेगा
  • इस योजना से तहत उद्योग शुरू करने पर राज्य सरकार दुवारा 25 लाख रूपये की सब्सिडी प्रदान की जाएगी

आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की पात्रता

सरकार ने इस योजना के लिए कुछ पात्रता निर्धारित की है ।

  •  राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिय
  • इस योजना का लाभ राज्य के आदिवासी ,वंचित वर्ग यथा दलित, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अत्यन्त पिछड़ा वर्ग, अल्प-संख्यक एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के नागरिको को प्रदान किया जायेगा
  • इस योजना का लाभ आवेदन करने वाले नागरिको को ही प्रदान किया जायेगा
  • आवेदन करने वाले नागरिको को पास योजना के सभी दस्तावेजो का होना जरूरी है
  • बीपीएल श्रेणी के तहत आने वाले दलित एवं आदिवासी उद्योग कर्मियों को इस योजना के तहत प्राथमिकता दी जाएगी

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना आवेदन के लिए दस्तावेज

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • BPL कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज
  • मोबाइल नम्बर
  • जन आधार कार्ड
  • क्या काम के लिए लोन लेना है कि जानकारी

Rajasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana Registration

राजस्थान के जो इच्छुक आदिवासी एवं दलित परिवारों से संबंध रखने वाले युवा इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं वो सभी अधिकतम जानकारी के लिए कार्यालय जिला उद्योग एवम् वाणिज्य केन्द्र, जैसलमेर में सम्पर्क कर सकते है।

आप राजस्थान की हर छोटी बड़ी update पाने के लिए Rajasthan Suchna से जुड़े रहे । ओर बेल आइकॉन को दबा कर सब्सक्राइब कर ले।

निष्कर्ष

आप सभी दलित व आदिवासी लोगों के  कौशल विकास व उज्जवल भविष्य के निर्माण हेतु हमने आपको इस लेख मे, विस्तार से ना केवल Rajasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana के बारे मे बताया बल्कि हमने आपको विस्तार से पूरी  ऑनलाइन आवदेन प्रक्रिया के बारे मे बताया ताकि आप सभी इस राजस्थान के निवाशी, आवेदन कर सके और इसमे अपना – अपना स्वरोजगार स्थापित कर सकें।

अन्त, आर्टिकल के अन्त मे, हमे उम्मीद है कि, आप सभी को हमारा यह आर्टिकल बेहद पसंद आया होगा जिसके लिए आप हमारे इस लेख को  लाइक, शेयर व कमेट करेगे ।

Leave a Comment